ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
मुस्लिम डेमोक्रेटिक फन्ड ने नागरिक संशोधन विधेयक का किया विरोध मुस्लिम शरणार्थियों को शामिल करने की माग
December 13, 2019 • Faisal Hayat • Politics


कानपुर । नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध राष्ट्रपति महोदय से हस्ताक्षर न करने की मांग मुस्लिम शरणार्थियों को शामिल करने की मांग मुस्लिम डेमोक्रेटिक फंड तत्वधान में कचहरी कैंप कार्यालय में नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में बैठक संपन्न हुई बैठक की अध्यक्षता शाकिर अली उस्मानी ने कहा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान बांग्लादेश के 6 गैर मुस्लिम समुदाय को भारत में नागरिकता देने का कानून रास्ता बनाया गया जबकि इन देशों के पीड़ित मुसलमानों को इस विधेयक में नहीं शामिल किया गया है जो संविधान के अनुच्छेद 14 व 15 का उल्लंघन है इस विधेयक से देश के नागरिकता चिंतित है यह विधेयक संविधान का मूल भावना को आहत करता है इस विधेयक से वीर सावरकर के सिद्धांतों का बल मिलेगा अंबेडकर एवं गांधी के सिद्धांतों का भारत बनाना है बैठक में देश के राष्ट्रपति महामहिम रामनाथ कोविन्द से मांग की इस विधेयक पर हस्ताक्षर ना करें क्योंकि यह विधेयक घुसपैठियों के नाम पर मुसलमानों का उत्पीड़न करने वाला विधेयक है इस विधेयक मुसलमानों को भी शामिल किया जाए वरना इस विधेयक के खिलाफ पूरे प्रदेश में जन आंदोलन चलाया जाएगा।
नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध करने वालों में प्रमुख एम0डी0एफ0के राष्ट्रीय अध्यक्ष शाकिर अली उस्मानी अब्दुल शमी शाह मनोज बाल्मीकि डॉ0 मोहम्मद जुबेर इंद्रपाल भारतीय सोनेलाल गौतम रेहान अहमद लाखन सिंह आर0के0सिंह बटेश्वर गुप्ता बलवान सिंह राम प्रकाश तिवारी सत्येंद्र खन्ना केसी शर्मा राज कुमार गुप्ता आदि लोग मौजूद रहे।