ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
बजट के खिलाफ समाजवादियों का प्रदर्शन
February 1, 2020 • Faisal Hayat • Politics


हफ़ीज़ अहमद खान


कानपुर । वित्त मंत्री द्वारा 2020 के पेश किए गए बजट को निराशाजनक बताते हुए समाजवादी पार्टी व उत्तर प्रदेश प्रान्तीय व्यापार मण्डल से जुड़े व्यापारियों ने कोतवाली बड़े चौराहे के पास काले गुब्बारे छोड़कर व  बजट 2020 ने फिर किया निराश,व्यापारी,किसान,युवा हुए हताश के नारे लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया और अपना आक्रोश दिखाया।नेतृत्व कर रहे प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता ने बजट 2020 को दिवालिया बजट बताते हुए कहा कि पूरा देश फिर मायूस हुआ है।बजट इतना नकारात्मक है की सेंसेक्स तुरंत औंधे मुंह गिर गया जिसकी वजह से निवेशकों का 4 लाख करोड़ डूबा।अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की इस बजट से न व्यापारी को फ़ायदा हुआ, न दुकानदार को और न ही उद्यमी को। किसान-मज़दूर-युवा भी भयंकर रूप से निराश हुए हैं जिसकी वजह से व्यापार सीधे प्रभावित होगा।बैंकें डूब रही हैं जिसकी वजह से व्यापारी को पूंजी नहीं मिल रही जिसपर बजट ने कुछ ध्यान नहीं दिया।आज पेट्रोल,डीज़ल,बिजली को फिर से जीएसटी के अंतर्गत न लाकर वन नेशन वन टैक्स की नीति के विरुद्ध कार्य किया गया है।नोटबंदी और जीएसटी से बर्बाद हुए व्यापार के लिए आज भी कोई उपाय नहीं दे पाई मोदी सरकार।पांच लाख तक इनकम टैक्स की छूट की घोषणा भी पेंचदार है। केंद्र सरकार ने करीब 70 तरह की छूट को खत्म करने का फैसला कर लिया है और ऐसे में इनकम टैक्स में छूट तभी मिलेगी जब मिलने वाली आयकर छूटों को छोड़ने का फैसला करेंगे।ये देश की जनता के साथ धोखा है।व्यापारिक मंदी के माहौल को खत्म करने के लिये,बेरोजगारी व किसानों की समस्या को दूर करने के लिए बजट में कोई ठोस बात नहीं हैं।उत्तर प्रदेश विशेषकर प्रदेश की औद्योगिक राजधानी कानपुर को तो पूरी तरह से नज़रंदाज़ किया गया है।होजरी व चमड़ा उद्योग कानपुर की पहचान रहा है।उसको पुनर्जीवित करने के लिए सरकार ने कुछ नहीं किया।जीएसटी स्लैब भी पहले की तरह रखे गए हैं जिसकी वजह से मायूसी और बढ़ी।सोने पर ड्यूटी कम करने का वादा करके भी सरकार ने राहत नहीं दी।व्यापारियों के लिए सस्ती स्वास्थ सेवाओं व शिक्षा व्यवस्था के लिए भी कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।गढ्ढेदार सड़कों की समस्या के लिए भी कोई उपाय नहीं दिया गया।सरकार ने स्मार्ट प्रीपेड मीटर के लिए तो राज्य सरकार को सलाह दी पर सस्ती बिजली के लिए नहीं।कुल मिलाकर बजट से पूरा देश भयंकर निराश हुआ है।अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि देष देश का व्यापारी मंदिर ब नागरिकता कानून के झगड़े की जगह बेहतर अर्थव्यवस्था चाहता है।सरकार की व्यापारी विरोधी नीतियों के विरुद्ध संघर्ष जारी रहेगा।प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय बिस्वारी,कानपुर नगर अध्यक्ष जितेंद्र जायसवाल, कानपुर ग्रामीण अध्यक्ष विनय कुमार,अभिलाष द्विवेदी,गौरव बकसारिया,मनोज चौरसिया,मो शाहरुख,शब्बीर अंसारी,अमित तिवारी,करण साहनी,अक्षय तिवारी,हिमांशु द्विवेदी,शेषणाथ यादव, अंकुर गुप्ता आदि थे।