ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
बस परिसर में एक लाइसेंस की आड़ में सजती है कई अवैध दुकाने
October 9, 2019 • Faisal Hayat

 


   मो0 नदीम सिद्दीकी


  कानपुुुर ।  एक तरफ परिवहन मंत्री स्वतन्त्र देव सिंह बस अड्डो का सुंदरीकरण करके बस यात्रियो को विदेशों जैसी सेवा मुहैया करवाने के लिए कोई कसर नही छोड़ रहे है वही इसके उलट उनके मातहत चंद पैसों के लालच में पड़कर बस परिसर में अवैध कब्जा करवा कर अतिक्रमण फैलाए ठेकेदारो पर कार्यवाही के बजाए संरक्षण देने से बाज नही आ रहे है
 

 बताना चाहेंगे मेजर सलमान अंतरराज्जीय झकरकटी बस अड्डा अवैध दुकानों का गण बना हुआ है खुलेआम कई दुकाने अवैध रूप से सजी हुई है जिसके कारण परिसर का हाल बद से बदतर होता दिख रहा है पान मसाला खुले पानी के पाउच घटिया ब्रांडो के चिप्स मूंगफली के साथ दुकानों पर तैनात सैकड़ो अवैध वेंडर परिसर की शोभा बढ़ा रहे है अवैध दुकानों पर लगती भीड़ के कारण बस अड्डा अवैध अतिक्रमण का मकड़जाल सा प्रतीत हो रहा है रोज़ाना आने जाने वाले यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है सैकड़ो यात्री खड़े होकर बसों का इंतजार करने पर मजबूर है  नियमानुसार बस परिसर में वही दुकाने लग सकती है जिसका परिवहन विभाग से टेंडर द्वारा ठेका पास हुआ हो इसके अलावा अन्य कोई भी परिसर में दुकान लगाता है तो विभाग उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही करता है परन्तु कई सालो से परिसर के अंदर दुकाने लगा रहे दुकानदारों को लेकर विभाग कतई गम्भीर नही दिख रहा है   


सूत्र बताते है बस परिसर में लगने वाली दुकाने किसी और की नही बल्कि उन्ही ठेकेदारो की है जो सालो से परिसर में काबिज है मात्र एक दुकान का ठेके लिए ठेकेदार विभाग में छेद कर परिसर में कई दुकानें चला रहे है इसमे एक नाम बनारस के ठेकेदार का भी शामिल है सूत्र बताते है ठेकेदार दुकानों पर खुद ना बैठकर अपना एक डमी कैंडिडेट को बैठा देता है जो।अपनी और अपने आकाओ की जेबें खूब अच्छी तरह से भरता है अब इसके लिए उसे यात्रियों से ओवर चार्जिंग के नाम पर ठगी भी करनी पड़े तो इससे उन्हें कोई फर्क नही पड़ता है अभी हाल ही में मंडलायुक्त सुभाष चन्द्र शर्मा ने बस परिसर का निरीक्षण किया था जिसमें ढेर सारी अनियमितताए निकलकर सामने आई थी जिसे जल्द ही दूर करने के लिए बस विभाग को आदेशित भी किया था निरीक्षण के दौरान ही एक दुकानदार से बस परिसर में दुकान लगाने की परमिशन के कागज मांगे गए थे दुकानदार बगले झांकता हुआ रफूचक्कर हो गया था मण्डलायुक्त सुभाष शर्मा ने सभी दुकानदारों के लाइसेंस चेक करने के लिए विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देश भी दिए थे लेकिन उसके बाद ढाक के तीन पात अभी तक किसी भी ठेकेदार के खिलाफ़ विभाग ने कोई कार्यवाही नही की है इससे साफ पता चलता है ये प्रोपागेंडा विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से फैलाया गया है