ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
भीड़ द्वारा की गई फायरिंग से बाबूपुरवा में हुईं थी मौते-हाईकोर्ट में पुलिस का पक्ष
January 17, 2020 • Faisal Hayat • Crime


कानपुर । शहर में सीए और एनआरसी के विरोध प्रदर्शन को लेकर हुई हिंसा में दाखिल दो जनहित याचिका पर बीते गुरुवार को फजलगंज इंस्पेक्टर ने पुलिस का पक्ष रख्खा । फजलगंज इस्पेक्टर व पूर्व विवेचक अमित तोमर ने हाईकोर्ट के समक्ष कहा है कि प्रदर्शन,हिंसा करने वाली भीड़ ने पुलिस को घेर लिया था । भीड़ की ओर से की गई फायरिंग में तीन लोगों की मौत हुई थी । पुलिस ने अपने बचाव में आंसू गैस के गोले दागे थे । कानपुर के 2 लोगों ने प्रयागराज और पीस पार्टी के अध्यक्ष डॉक्टर अयूब की ओर से लखनऊ हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी । पूर्व विवेचक ने हाईकोर्ट के समक्ष एफआईआर व मेडिकल की कॉपी दी है । एसपी क्राइम राजेश यादव ने बताया कि दोनों याचिका पर जवाब दाखिल किया जा चुका है । अब आगे की सुनवाई होगी बाबू पुरवा और यतीम खाने बवाल के फरार आरोपियों पर एसआईटी कार्यवाही करने जा रही है ।
आप को बताते चले की बीते 20,21 तारीख को सीएए, एनआरसी के विरोध प्रदर्शन में शहर के बाबूपुरवा क्षेत्र में 3 मौते और बाबू पुरवा,यतीमखान क्षेत्र में सरकारी,निजी सम्पत्तियों का भारी नुकसान हुआ था । जिस में बेकनगंज, कर्नलगंज,बाबूपुरवा थाने में नामजद,अज्ञात में कई मुक़दमे पंजीकृत किये गए थे ।