ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
चमनगंज धरना-मान,मनोव्वल के बाद महिलाओं ने सड़क छोड़ी,पार्क में चालू
February 12, 2020 • Faisal Hayat • Social

 कानपुर ।  दिल्ली के शाहीनबाग के तर्ज पर शहर के चमनगंज  क्षेत्र का महिलाओं का धरना सड़क पर आ गया था । मो.अली पार्क में चल रहे धरना में पुलिस बर्बरता से नाराज महिलाएं बीते सोमवार से सड़क घेरकर धरने पर बैठ गईं थी । महिलाये मान,मनोव्वल के बाद सड़क पर धरना छोड़ कर  पहले की तरह से मोहम्मद अली पार्क के अंदर धरने पर बैठ गई । आपको बता दे कि शहर के मो.अली पार्क में 36 दिनों से महिलाओं का शांति पूर्ण तरीके से धरना चल रहा है । नाटकीय तरीके से शहर के आलाधिकारियों की मौजूदगी में धरने को समाप्त कर दिया गया था । परन्तु आला अधिकारियों के जाते ही यहां मौजूद महिलाओं ने ये धरना 24 घण्टे करने का ऐलान कर दिया । उन का आरोप था कि हम एक महीने से जिन मुद्दों के लिए बैठें हैं उन मुद्दों पर कोई बात नही हुई । प्रशासन ने बीते रविवार को रात में लगभग 3 बजे बलपूर्वक पार्क को खाली करा लिया था । जिस से महिलाओं का गुस्सा फूट पड़ा । और सुबह होते ही हज़ारो महिलाए सड़को पर आ गई और वहीं धरने पर बैठ गेन सोमवार सुबह से चमनगंज क्षेत्र में सड़क पर शुरू हुआ महिलाओं का धरना मंगलवार को भी जारी था हालांकि पहले जो धरना करीब एक किलोमीटर की लंबाई तक फैला था, वह अब तीन जगहों तक सीमित हो गया था । धरना खत्म करवाने के लिए पहले तो प्रशासन ने कोशिश की जिस पर वो विफल रहे । जिस के बाद पर्दे के पीछे पुलिस-प्रशासन के अधिकारी लगातार क्षेत्रीय एव संभ्रात लोगों से बातचीत कर रहे थे,जिसका नतीजा बुधवार को जिला प्रशासन के पक्ष में दिखाई दिया । प्रदर्शनकारी महिलाये सड़क को छोड़कर फिर से पार्क के अंदर धरने पर बैठ गई हैं । प्रदर्शनकारी महिलाओं की मांग है कि अब तक गिरफ्तार किए गए सभी लोगों की रिहाई करने के बाद सारी एफआईआर खारिज की जाए | महिलाओ का कहना है कि नागरिकता कानून लागू होने के बाद हम लोगो से रहने का सबूत माँगा जाएगा। कभी आधार कार्ड तो कभी पेन कार्ड की बात करते है। हम जब तक धरने पर बैठें गए जब तक ये काला कानून वापिस न होगा ।