ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
हाईस्कूल चित्रकला सरल न समझें- श्रीमती अणिमा
January 9, 2020 • Faisal Hayat • Education

  कानपुर । नियमित अभ्यास,शुद्धता से हाईस्कूल चित्रकला मे अच्छे अंक  प्राप्त होते है।परीक्षार्थी को पाठ्यक्रम अच्छी तरह समझ लेना चाहिए,क्योंकि चित्रकला स्कोरिंग विषय है। इस संबंध में पी पी एन इंटर कॉलेज की ड्राइंग अध्यापिका श्रीमती अणिमा ने बताया कि ड्राइंग पेपर , लिखित परीक्षा 70 अंक व 30 अंक का प्रोजेक्ट कार्य है चित्रकला का प्रश्न पत्र तीन खंडों में बटा होता है।जिसमें खंड क अनिवार्य शेष दो खंडों में एक खंड करना होता है। खंड क स्मृति चित्रण और  भारतीय चित्रकला का खंड ख होता है।अनिवार्य खंड क में प्राकृतिक चित्रण जैसे        उषाकाल, संध्याकाल, ग्रामीण व पहाड़ी दृश्य का चित्रण 20 ×15 सेमी माप पर वाटर कलर या पोस्टल रंगों से रंगना है। आलेखन में चतुर्भुज या वृत्त के पूर्ण  आलेख बनाएं और माप 15 सेमी से कम न हो, कम से कम तीन रंगों का अवश्य प्रयोग करें। प्राविधिक में अंता स्पर्शी वाह्य स्पर्शी व परिगत आकृतियां, रेखा, क्षेत्रफल, साधारण निर्मेय अवश्य तैयार करें ।खंड ख स्मृति चित्रण में साधारण जीवन में दैनिक उपयोग की वस्तुएं जैसे घरेलू बर्तन, सुराही ,बाल्टी ,लोटा ,केतली, बोतल, गिलास आदि पेंसिल द्वारा रेखांकन करें ।खंड ग भारतीय चित्रकला में 4 प्रश्नों में 2 प्रश्न हल करने होंगे ।एक प्रश्न वस्तुनिष्ठ जो अनिवार्य होगा, जिसमें चित्रकला का प्राचीन उल्लेख ,चित्रकला की विशेषताएं संबंधी प्रश्न पूछे जाएंगे। श्रीमती अणिमा ने बताया कि परीक्षार्थियों को पाठ्यक्रम को अच्छी तरह समझ लेना चाहिए। चित्रकला स्कोरिंग विषय है इसलिए पूरे पेपर में दिए गए निर्देशों के अनुसार ही प्रश्नों को हल करें।परीक्षार्थियों को प्रश्न में दिए गए पूर्णांक का भी ध्यान रखकर ,आलेखन  प्राकृतिक चित्रण का अभ्यास कई बार करना चाहिए‌।  निर्मेय का कॉपी पर कई बार अभ्यास करें ,स्मृति चित्रण में चित्र बनाकर अभ्यास करें।