ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
हाईस्कूल हिंदी की तैयारी कैसे करें-एस. के.दिवाकर 
January 6, 2020 • Faisal Hayat • Education

   कानपुर ।  यू पी बोर्ड हाईस्कूल हिंदी का प्रश्न पत्र 18 फरवरी 2020 को प्रातः 8:00 से 11:15 तक, जिसमें 15 मिनट पेपर पढ़ने का समय निर्धारित है। ऐसे में छात्रों को लिखित परीक्षा 70 अंक व 30 अंक विद्यालय के विषय अध्यापक स्तर से प्रोजेक्ट वर्क होगा। हिंदी का पेपर कैसे हल करें।  इस संबंध में पी पी एन इंटर कॉलेज कानपुर के हिंदी अध्यापक सुनील कुमार दिवाकर ने बताया कि हिंदी के पेपर में व्याकरण एवं संस्कृत खंड से परीक्षार्थियों को पूरे में पूरे अंक प्राप्त होते हैं ।छात्रों को पाठ्यक्रम की पूरी जानकारी होना आवश्यक है। प्रश्न पत्र हल करते समय सभी प्रश्नों को हल करने के लिए समय निर्धारित कर लेना आवश्यक होता है। जिससे समय रहते सभी प्रश्न हल हो जाते हैं। छात्रों को हिंदी का नोट्स बना कर पढ़ाई करना चाहिए, जिससे छात्रों को रिवीजन करने में सहायक हो सके। जो स्वयं का लिखा होता है वह काफी समय तक याद रहता है,इसके लिए मॉडल पेपर या पुराने पेपर को हल करने का अभ्यास लिख लिख कर अवश्य करना चाहिए। लिखित प्रश्न पत्र 70 अंक का होता है, जिसमें हिंदी गद्य का विकास का संक्षिप्त परिचय पांच अंक, हिंदी पद्य के विकास का संक्षिप्त परिचय 5 अंक, गद्य खंड से रेखांकित अंश की व्याख्या एवं तथ्यपरक प्रश्न 6 अंक, काव्यखंड से पदों का संदर्भ सहित व्याख्या व काव्य सौंदर्य 6 अंक, संस्कृत खंड से गद्य एवं पद्य का संदर्भ सहित हिंदी अनुवाद 4 अंक, श्लोक संस्कृत में लिखने का 2 अंक, लेखों एवं कवियों के जीवन परिचय एवं रचनाएं 6 अंक, संस्कृत पाठों में से दी गई अति लघु उत्तरीय प्रश्न दो अंक ,व्याकरण से रस,छंद व अलंकार 6 अंक, उपसर्ग, प्रत्यय ,समास, तत्सम व पर्यायवाची 11 अंक, संधि, शब्द रूप ,धातु रूप, संस्कृत अनुवाद 8 अंक, निबंध 6 अंक, तथा खंडकाव्य से घटनाएं व चरित्र चित्रण 3 अंक। व्याकरण और संस्कृत खंड परीक्षार्थियों को अच्छे अंक प्राप्त करने में सहायक होते हैं। पेपर में हिंदी व्याकरण से जुड़े 10 अंक के प्रश्न होते हैं, सबसे अधिक 6 अंक का निबंध पूछा जाता है,और संस्कृत से 16 अंक के प्रश्न पूछे जाते हैं। निबंध में छात्रों को प्रस्तावना व उपसंघार में विषय गत प्रक्रिया अवश्य लिखना चाहिए। हिंदी में सही उत्तर लिखने पर पूरे अंक मिलते हैं ।रस करुण तथा हास्य परिभाषा एवं उदाहरण, छंद, रोला ,सोरठा का लक्षण, मात्रा आदि की गणना तथा अलंकार में उपमा, रूपक, उत्प्रेक्षा उदाहरण सहित लिख लिख कर अभ्यास करना चाहिए। उपसर्ग, प्रत्यय, पर्यायवाची संधि तथा कोई दो लाइन का श्लोक प्रतिदिन स्मरण करते रहना चाहिए,जो पूरे में पूरे अंक दिलाता है।प्रश्नों को हल करते समय गति अवश्य बनाए रखें, जिससे समय के रहते सभी प्रश्न हल हो सके। संस्कृत खंड में हलंत और विसर्ग का विशेष ध्यान रखना चाहिए। शब्द रूप में  तृतीय, चतुर्थी, पंचमी व षष्ठी विभक्त के रूप और धातु रूप में लट् लकार अवश्य याद कर लेना चाहिए।खंडकाव्य के प्रश्न के उत्तर अपने ही भाषा में लिखें।