ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
हाईस्कूल हिंदी पेपर  की तैयारी कैसे करें-सुनील कुमार दिवाकर  
January 24, 2020 • Faisal Hayat • Education

                                                      

 कानपुर । हिंदी पेपर में व्याकरण की पकड़ परीक्षार्थियों को गणित जैसे पूरे अंक दिलाती है।सबसे पहले छात्रों को हिंदी के पाठ्यक्रम को पूरी तरह समझ लेना चाहिए,छात्रों को तनाव लेने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है।हाईस्कूल हिंदी का पेपर पहले ही दिन है।इस संबंध में पी पी एन इंटर कॉलेज कानपुर के हिंदी विषय के अध्यापक सुनील कुमार दिवाकर ने बताया कि  परीक्षा की तैयारी हेतु छात्रों को टाइम मैनेजमेंट की काफी जरूरत होती है जिससे समय के रहते अपने संपूर्ण कोर्स की तैयारी परीक्षा से पूर्व हो जाती है।इससे अच्छे अंक हासिल होते हैं।लिखा हुआ काफी लंबे समय तक याद रहता है इसलिए पुराने पेपर या मॉडल  पेपर का अभ्यास लिख लिख कर करें,जिससे सवालों का पैटर्न पता चलता है ।हाईस्कूल हिंदी केवल प्रश्नपत्र 70 अंक समय 3 घंटा 15 मिनट निर्धारित है।हाई स्कूल पाठ्यक्रम में हिंदी गद्य का विकास का संक्षिप्त परिचय 5 अंक,हिंदी पद्य का विकास का संक्षिप्त परिचय 5 अंक,गद्य हेतु रेखांकित अंश की व्याख्या एवं तथ्यपरक अंक 6,काव्य हेतु निर्धारित पाठ्यवस्तु से संदर्भ व्याख्या व काव्य सौंदर्य 6 अंक, संस्कृत गद्य एवं पद्ध का संदर्भ सहित हिंदी अनुवाद चार अंक,लेखकों एवं कवियों के जीवन परिचय एवं रचनाएं 6 अंक,संस्कृत के पाठ में एक श्लोक जो प्रश्न पत्र में न आया हो 2 अंक,संस्कृत पाठ के दो अति लघु उत्तरीय प्रश्न दो अंक। रस ,छंद अलंकार,6 अंक,व्याकरण उपसर्ग, प्रत्यय, समास,तत्सम व पर्यायवाची 11 अंक।हिंदी व्याकरण एवं अनुवाद में संधि ,शब्द रूप,धातु रूप व संस्कृत अनुवाद 8 अंक, निबंध 6 अंक संक्षिप्त कथावस्तु घटनाएं एवं चरित्र चित्रण 3 अंक।हिंदी पेपर में व्याकरण की पकड़ परीक्षार्थियों को अच्छे अंक दिलाने में मदद करती है, पेपर में हिंदी व्याकरण से जुड़े 19 अंक के प्रश्न होते हैं। सबसे अधिक 6 अंक का निबंध पूछा जाएगा। जिसमें छात्र प्रस्तावना व उपसंहार में कोई संदर्भित काव्य पंक्ति अवश्य लिखें। हिंदी में सटीक उत्तर लिखने से गणित की तरह पूरे अंक मिलते हैं। रस, छंद ,अलंकार, संधि, समास उदाहरण सहित याद करें। प्रत्यय ,उपसर्ग, पर्यायवाची, संधि ,व विलोम शब्द प्रतिदिन स्मरण करते रहें ,यह पूर्ण अंक दिलाते हैं। उत्तर लिखने में आवश्यक गति अवश्य बनाए रखें ताकि समय सीमा के अंतर्गत संपूर्ण प्रश्न पत्र हल हो सके।निबंध में वर्तमान खबरों की जानकारी अवश्य रखें ।कम से कम 6 श्लोक अवश्य याद करें। संस्कृत में हलंत और विसर्ग का विशेष ध्यान रखें ।शब्द रूप में  तृतीय, पंचमी, षष्ठी विभक्ति के रूप और धातु रूप में लट् ,लृट लकार अवश्य ही याद करें। संस्कृत व्याकरण में शब्द रूप और धातु रूप को लिखकर अभ्यास करने से हलंत संबंधी अशुद्धियां कम हो जाती हैं। खंडकाव्य के प्रश्नों को अपनी ही भाषा में लिखें। काव्य में सूर ,तुलसी व बिहारी तथा गद्य मे ईर्ष्या तू न  गयी मेरे मन से, मित्रता ,भारतीय संस्कृति व क्या लिखूं से व्याख्याये परीक्षार्थी अवश्य तैयार कर लें।टाइम टेबल बनाकर पढ़ाई करे तथा बीच-बीच में उसका रिवीजन करते रहना चाहिएताकि पता चल सके कि कितना याद हुआ है ।इस दौरान बीच-बीच में ब्रेक लेते रहना चाहिए जिससे आपके मस्तिष्क को थोड़ा आराम मिल सके। एक विषय अगर पढ़ते-पढ़ते आप बोर हो रहे हैं, तो थोड़ा ब्रेक लेकर पढ़ें। हिंदी में नोट्स बनाकर अपनी पढ़ाई करें ,जिससे आपको रिवीजन करने में मदद मिलेगी।