ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
जूही लाल कॉलोनी से पूरी शान से निकाला गया जुलूस गौसिया
December 9, 2019 • Faisal Hayat • Social


क्यु दबे किससे दबे जो हैं तेरे दर के गुलाम।
गौस-ए-आजम की हिफाज़त में है बन्दा तेरा।
   मुफ्ती काजिम रजा ओवैसी

कानपुर । दिनाँक 9 दिसंबर 2019 को जुलूस गौसिया अपनी पूरी आन बान शान के साथ मदरसा तालिमुल कुरान अहले सुन्नत 22 ब्लॉक, जुही लाल कॉलोनी से अंजुमन शेरे रज़ा, अंजुमन खादिमाने रिसालत व अंजुमन गुलामाने रसूल द्वारा जुलूस निकाला गया। जिसकी सरपरस्ती इमाम मदरसा हज़रत हाफ़िज़ व कारी शब्बीर हुसैन बरकाती ने की तथा सदारत हज़रत अल्लामा मौलाना मुफ्ती काजिम रजा ओवैसी ने की तथा दौरान जुलूस के साथ चल रही ट्राली से मुफ्ती साहब ने कहा कि क्यु दबे किससे दबे जो हैं तेरे दर के गुलाम। गौस-ए-आजम की हिफाज़त में है बन्दा तेरा। जुलूस अपने कदिमी रस्तों जूही लाल कॉलोनी, पीली कॉलोनी, हरि कॉलोनी, सफेद कॉलोनी, उस्मानपुर कॉलोनी की गलियों से होता हुआ उस्मानपुर ईदगाह में मुकम्मल हुआ। जुलूस में हर वर्ग व समाज के लोग शामिल हुए। जुलूस में लोग लाल हरे नीले पीले गुलाबी कई रंगों अलम के साथ तिरंगा झंडा भी लिये हुए चल रहे थे जो 25 - 25 फुट के थे। जुलूस में लोग नारे तकबीर अल्लाहु अकबर, नारे रिसालत या रसूल अल्लाह, नारे हैदरी या अली, गौस का दामन नहीं छोड़ेगे आदि सदाएं बुलंद कर रहे थे। जुलूस का लोगों ने जगह-जगह पर फ़ूलों व हार माला से स्वागत किया तथा खूब लंगर तकसीम किया। ईदगाह में मुफ्ती साहब ने सालातो सलाम के बाद मुल्क में तरक्की की दुआ किया।

अंजुमन शेरे रज़ा के महासचिव मोहम्मद इमरान खान छन्गा पठान ने आए हुए लोगों का इस्तकबाल करते हुए शुक्रिया अदा किया।

   जुलूस में मौलाना आमिर रज़ा इमाम ईदगाह उस्मानपुर, मौलाना अंसार रहमान, मोहम्मद इमरान खान छन्गा पठान, कफील, रमीज, दिलशाद चिश्ती, इजहार आलम बरकाती, हाफ़िज़ हारून, उर्स कमेटी सलीम मुशाहिदी, जुनैद रजा़ हशमती, गु़लाम यासीन मुशाहिदी, मेराज रजा़ हशमती, हाफिज़ जीशान रजा हशमती, मो. आसिफ़, मो. मुस्तकीम, मो. मोहिद, जियाउल हसन कादरी(मीनू), वक़ील मोहम्मद, अलीमुल रज़ा हशमती, मोहम्मद सलमान हशमतीं,मोहम्मद फ़ैज़ी रज़वी, मोहम्मद शोएब बरकाती, इम्तियाज अहमद, गुड्डू सिंह, राम बालक कनौजिया, मुन्ना जादे, मुजीब अंसारी, हसीब रज़ा, नाजिश हुसैन, सैय्यद खालिक अहमद, सिराज आलम, हाफ़िज़ इमरान, इनायत अली खान पीर मोहम्मद, वसीक, रिजवान अहमद आदि तमाम लोग मौजूद थे।