ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
कोरोना वायरस से बचाव के लिए हुए जागरूक कार्यक्रम में बच्चों को बचने के लिए दिए गए टिप्स
March 20, 2020 • Faisal Hayat • Social

 शावेज़ आलम✍✍✍

✒✒✒✒✒✒✒✒
 कानपुर 20 मार्च चाइल्ड लाइन कानपुर व रोटरी क्लब कानपुर त्रिमूर्ति के तत्वाधान में कोरोनावायरस से बच्चों को बचाव के लिए जागरूक करने के उद्देश्य से जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन सुभाष चिल्ड्रेन होम 19 राजीव विहार नौबस्ता कानपुर नगर में किया गया जिसमें मुख्य अतिथि द्वारा बच्चों को बीमारी से बचने के लिए टिप्स दिए गए।  मुख्य अतिथि रोटेरियन डॉ राज यादव संचालक नॉस्ट्रम हॉस्पिटल अंबेडकरनगर गुजैनी ने बच्चों को बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सफाई रखना बहुत आवश्यक है सफाई रखने के लिए सर्वप्रथम हाथ धोना एक बहुत महत्वपूर्ण कार्य है यह न केवल कीटाणु  रोकने में मदद करती है बल्कि एक स्वस्थ जीवन जीने में मदद करता है| साथ ही उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस एक ऐसा वायरस है जो जानवरों और इंसान को बीमार कर सकता है यह एक आरएनए वायरस है इसका मतलब यह है कि यह एक शरीर के अंदर कोशिकाओं में टूट जाता है और उनका उपयोग खुद को पुनः उत्पन्न करने के लिए करता है कार्यक्रम के दौरान सत्य नेत्र चिकित्सालय बंबा रोड नौबस्ता के रोटेरियन डॉक्टर सीपी गुप्ता कमल ने बताया कि कोरोना वायरस से अब तक भारत में 5 लोगों की लोगों की मौत हो चुकी है जबकि विश्व के कई बड़े देश इसकी चपेट में हैं और मरने वालों की संख्या भी हजारों तक पहुंच  गई है रोटरी क्लब कानपुर त्रिमूर्ति के अध्यक्ष रोटेरियन कमल कांत तिवारी ने बताया कि कोरोना वायरस एक ऐसे वायरस के परिवार से आता है जो मनुष्य और जानवरों को संक्रमित करते हैं जब तक इस नए कोरोना वायरस की पहचान नहीं हुई थी तब तक मनुष्य को संक्रमित करने के लिए केवल छह अलग-अलग कोरोना वायरस थे जो कि सर्दी लगने जैसी बीमारी का कारण बनते थे। 
 चाइल्ड लाइन के समन्वयक प्रतीक धवन ने कोरोना वायरस के फैलने के बारे में बच्चों को बताया कि यह बीमारी सिर्फ खांसी और छींक के जरिए लोगों में फैल सकती है इसका मतलब यह वायरस बहुत आसानी से किसी को भी संक्रमित कर सकता है इसके अलावा यह वायरस लार के जरिए निकट संपर्क या फिर बर्तन शेयर करने से भी फैल सकता है क्योंकि यह फेफड़ों को संक्रमित करता है इसके खास है वक्त मुंह से निकलने वाली बूंदें भी सामने वाले को संक्रमित कर सकती हैं साथ ही  उन्होंने इस बीमारी के लक्षणों के बारे में बताया कि इस वायरस से संक्रमित होने के कम से कम 14 दिनों बाद इसके लक्षण दिखाई देते हैं कोरोना वायरस के मरीजों में आमतौर पर जुकाम खांसी गले में दर्द सांस लेने में दिक्कत पर एक हार जैसे शुरुआती लक्षण दिखाई देते हैं इसके बाद यह लक्षण निमोनिया व किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं| कार्यक्रम में सुभाष चिल्ड्रन होम कि अधीक्षक श्रीमती आशा सचान ने बच्चों को अच्छे तरीके से हाथ धोने के बारे में बताया तथा बार बार हाथ धोने के बारे में अपील की ।
 कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉक्टर राज यादव डॉ सीपी गुप्ता रोटरी क्लब कानपुर की मूर्ति के चार्टर अध्यक्ष सतीश चंद्र गुप्ता चाइल्ड लाइन कानपुर के निदेशक कमल कांत तिवारी समय प्रतीक धवन , सुभाष चिल्ड्रन होम  की  इंचार्ज आशा सचान, संजुला पांडे, रुचि सचान, दीक्षा तिवारी, शिवानी सोनवानी, ज्योति शर्मा ,सरोज देवी, हिमांशु ,गीता शुक्ला पम्मी  प्रमोद कुमार सहित सुभाष चिल्ड्रेन होम  के 3 दर्जन से अधिक बच्चे उपस्थित रहे ।