ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
लोकतंत्र की पहचान है यह संविधान
November 26, 2019 • Faisal Hayat

कानपुर । एस एन सेन बालिका पीजी कॉलेज के तत्वाधान में संविधान दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए डॉ मीनाक्षी व्यास ने बताया कि एसएन सेन कालेज की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के द्वारा संविधान दिवस पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। लक्ष्य गीत के साथ ही कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया महाविद्यालय की प्राचार्या पूर्णिमा त्रिपाठी ने अपने संबोधन में कहा कि संविधान लोकतंत्र की पहचान है। सभी के लिए समानता और संवेदनशीलता ही इसकी प्रमुखता है। इसमें बाबा भीमराव और वल्लभ भाई पटेल ने प्रमुख भूमिका निभाई। मुख्य वक्ता के रूप में डा वर्षा खानवलकर एसोसिएट प्रोफेसर राजनीति विभाग ने छात्राओं को संविधान दिवस, संविधान सभा तथा संविधान के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जिन परिस्थितियों में आजादी मिली उनमें बहुत ही दूरदर्शिता से संविधान के प्रावधानों की रचना की गई। माधवी,अलफिशा, पूर्वी,रश्मि, दिव्यांशी, निकहत,तहसीन ने संविधान के संबंध में अपने विचार व्यक्त किए।कार्यक्रम प्रभारी डॉ मीनाक्षी व्यास ने कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि संविधान निर्माण की प्रक्रिया आजादी प्राप्त होने से पहले ही प्रारंभ हो गई थी। संविधान एक लिविंग डाक्यूमेंट्र है,इसको सु्प्रीम कोर्ट समय समय साबित भी करता रहता है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य नई पीढ़ी को संविधान से जुड़े पहलुओं की जानकारी देना है। मुख्य रुप से उपस्थित डॉ मीनाक्षी व्यास, डॉ प्रीति सिंह, डॉ निशि, डॉ सुनीता, आदि उपस्थित रहे।