ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
मंडलायुक्त को ज्ञापन देकर व्यापारियों ने शहर में जाम से हो रही समस्याओं से अवगत कराया
January 7, 2020 • Faisal Hayat • Social


हफीज अहमद खान
कानपुर । कानपुर महानगर में विकराल जाम का मुख्य कारण बनी व प्रभावित होते व्यापार को बचाने के लिए मंधना से अनवरगंज तक रेलवे लाइन हटाकर मंधना से पनकी की ओर स्थानांतरित करने के एकमात्र विकल्प की मांग के संबंध में हम आपको कानपुर महानगर की एक ज्वलन्त समस्या व विकराल जाम का मुख्य कारण बनी मंधना से अनवरगंज तक रेलवे लाइन हटाकर मंधना से पनकी की ओर स्थानांतरित करने के एकमात्र विकल्प की मांग के सबन्ध में समस्याओं व सुझावो से अवगत कराते हुए इसका अविलम्ब निदान चाहते है जो कि जी टी रोड पर विकराल जाम का मुख्य कारण बनी मंधना से अनवरगंज तक रेलवे लाइन के समानांतर मंधना के करीब आई आई टी से मेट्रो की घोषणा होने के उपरांत इस रास्ते पर आने जाने का एक विकल्प होने के उपरांत इस रेलवे लाइन के हटने से सभी रेलवे क्रॉसिंग भी समाप्त हो जाएंगी जिससे गुमटी,80 फ़ीट रोड, जरीब चौकी,रावतपुर व कल्यानपुर सहित इसके आस पास की प्रभावित बाज़ारो के व्यापारियों को विकराल जाम से  निजात मिलेगी और इन बाज़ारो का व्यापार बढ़ने से सरकार को ज़्यादा से ज़्यादा राजस्व का फायदा मिलेगा।उत्तर व दक्षिण को दो हिस्से में बांटने वाली इस रेलवे लाइन के हटने से शहर को विकराल जाम से राहत मिलने से जाम की वजह से प्रत्येक दिन लाखो रुपए का पेट्रोल डीजल बर्बाद होने के साथ इसकी वजह से होने वाले प्रदूषण से भी निजात मिलेगी।इस ट्रैक के हटने से इसके आसपास बने सरकारी व बड़े प्राइवेट अस्पतालों में आने जाने वाले गंभीर मरीज़ों को भी बहुत बड़ी राहत मिलेगी! भीषण गर्मी व सर्दी में रेलवे क्रॉसिंग बन्द होने से फसे हुए स्कूली बच्चों को भी जाम से राहत मिलेगी।इस ट्रेक के हटने से अरबो रुपये की धनराशि की लगभग 18 किमी लम्बी ज़मीन खाली होगी इससे कम धनराशि में मंधना से पनकी की ज़मीन अधिग्रहण सहित नया ट्रेक भी बिछ जाएगा, इस अनवरगंज से मंधना तक रेलवे लाइन स्थानान्तरित होने से कई क्रॉसिंगों पर पुल बनने के प्रस्ताव की भी आवश्यकता समाप्त हो जाएगी जिससे इसमे पुल में केंद्र व प्रदेश सरकारों की लगने वाली भारी धनराशि की भी बचत होगी,अनवरगंज-मंधना रेलवे लाइन पर अन्य विकल्पों में सबसे ज़्यादा व्यस्त क्रॉसिंग से जुड़ा और सबसे बड़े जरीब चौकी चौराहे पर ओवर ब्रिज का सर्वे इस जगह पर बड़े बड़े नाले होने की वजह से फेल हो चुका है जब सबसे  व्यस्ततम जरीब  चौकी पर ओवरब्रिज नही बन सकता है तो अन्य ओवर ब्रिज का कोई मतलब नही है! 2018 में रेलवे बोर्ड की टीम द्वारा किये गए सर्वे में इस मामले में  दिए गए चार विकल्पों में सबसे सही उचित व एकमात्र विकल्प अनवरगंज से मंधना रेलवे लाइन हटा कर कर मंधना से पनकी की ओर स्थानांतरित किया जाना ही बताया गया है। ज्ञापन के दौरान ज्ञानेश मिश्रा राजीव गुप्ता अतुल द्विवेदी रोशन गुप्ता संजय मिश्रा सजीना नरेंद्र तिवारी सतीश गांधी अतुल त्रिवेदी, आदि लोग मौजूद रहे ।