ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
मस्जिदों के बाहर सीएए/एनआरसी के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान
January 17, 2020 • Faisal Hayat • Social

आज़म महमूद/शाह मोहम्मद
=====================================
कानपुर 17 जनवरी सीएए/एनआरसी के विरोध में मोहम्मदी यूथ ग्रुप के हस्ताक्षर अभियान के बारवें चरण मे मुल्क में एकता भाईचारा कायम रहने व संविधान को बचाने के लिए महामहिम राष्ट्रपति जी को हस्ताक्षरों के द्वारा इस संविधान को तोड़ने वाले कानून सीएए को वापस करने व एनआरसी लागू न करने को लेकर भारी संख्या में नमाज़ियों ने हस्ताक्षर अभियान मुहिम से जुड़कर अपना विरोध दर्ज कराया।
मोहम्मदी यूथ ग्रुप के हस्ताक्षर अभियान के बारवें चरण में कानपुर नगर की मस्जिदों के बाहर कैम्प लगाया जिसमें हज़ारों नमाज़ियों ने हस्ताक्षर अभियान से जुड़कर समर्थन कर सीएए को वापस करने और एनआरसी को लागू न करने का महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी से मांग की। 
ग्रुप के बारवें हस्ताक्षर अभियान में 8209 हस्ताक्षर हुए। हस्ताक्षर कैम्प कर्नलगंज, बेकनगंज, चमनगंज, कुली बाज़ार की प्रमुख मस्जिदों के बाहर लगे जहाँ हज़ारों की तादात में नमाजियों ने हस्ताक्षर कर अपना विरोध दर्ज कराया।
नमाज़ियों में प्रधानमंत्री व गृहमंत्री के खिलाफ नाराज़गी थी उनका कहना था कि जब देश की सरकार देश की आवाम के खिलाफ हो जाए तो आवाम किसके भरोसे रहेगी, पूरे देश मे हिंदू मुसलमान सिख ईसाई सब सीएए/एनआरसी के खिलाफ है विरोध के बावजूद सरकार देश को बांटने के मकसद से यह काले कानून को लागू किया है।


हस्ताक्षर अभियान में मुख्य रुप इखलाक अहमद डेविड, मौलाना अब्दुल रज़्ज़ाक, मौलाना मोहम्मद उमर, हाफिज़ अब्दुल वहीद, हाफिज़ माज़ सलामी, मुफ्ती साकिब अदीब, डा० निसार अहमद, मुफ्ती रफी अहमद निज़ामी, इस्लाम खाँ आज़ाद, सैय्यद मोहम्मद तलहा, मोहम्मद तौफीक, अफज़ाल अहमद, फाज़िल खाँ, इस्लाम चिश्ती, ज़ियाउद्दीन, मोहम्मद आरिफ, अख्तर हुसैन, मोहम्मद नासिर, हाफिज़ बिलाल चिश्ती, हाफिज़ मोहम्मद अरशद आदि लोग मौजूद थे।