ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
मो.अली पार्क का धरना खत्म हुआ है,विरोध नही-सविधान बचाओ समिति
January 13, 2020 • Faisal Hayat • Social


आज़म महमूद/शाह मोहम्मद
कानपुर । धरने से सुर्खियों में आया चमनगंज का मो. अली पार्क जहाँ एक हफ्ते से अनिश्चित कालीन सीएए, एनआरसी,एनपीआर, के विरोध में धरना प्रदर्शन सविधान बचाओ समिति द्वारा चलाया जा रहा था । धीरे धीरे ये प्रदर्शन बढ़ता जा रहा था । प्रदर्शन का आज सातवां दिन था । आज यहां जामिया के छात्र आसिफ इक़बाल गरजे और उन्होंने सब को याद दिलाया कि आजादी के बाद जब पाकिस्तान बना जब जिन मुसलमानों ने उधर का रूख किया तो ज़ामा मस्ज़िद की सीढ़ियों पर खड़े हो कर मौलाना अबुल कलाम आजाद ने कहा था कि कहाँ जा रहे हो ये लाल किला तुम्हे पुकार रहा है ये ज़ामा मस्ज़िद तुम्हे बुला रही है । हम जब नही गए तो अब कहाँ जाए गए । उस के बाद हिन्दोस्तान ज़िंदाबाद की सदायें फिज़ाओ में गूंजने लगी ।

उस के बाद पूर्व सांसद सुभाषनी अली ने इस काले कानून के बारे में बताया और सरकार की गलत नीतियों को बताया उस के बाद कार्यक्रम सयोजक मो.सुलेमान ने एडीएम सिटी को ज्ञापन देते हुए इस धरने को खत्म करने का एलान किया उन्होंने ने कहा कार्यक्रम संचालन कमेटी  ने ये फैसला लिया है  हम विरोध करना नही खत्म कर रहे हैं । हम प्रदर्शन  का तरीका बदल रहे हैं । ये जगह अब कम पड़ रही है । हम बड़ी जगह देख कर राष्ट्रीय स्तर का प्रदर्शन जल्दी करें गए । अब की रविवार को हम हलीम कॉलेज ग्राउंड से हज़ारों की तादाद में काली पतंग उड़ा के विरोध दर्ज कराए गए । जो इसी प्रदर्शन का सिल सिलेवार हिस्सा होगा 16 तारीख को दिल्ली में सार्वजनिक सुनवाई हो रही है जिस की सुनवाई चीफ जस्टिस दिल्ली एव पंजाब करें गए । तो उस के लिए हम कानपुर में जो बच्चे मरे है घायल हैं । और पुलिस ने जो बर्बरता ज्याती की है उस के कागज़ इकट्ठा कर के हम वहां जाए गए । हमारा धरना खत्म हुआ है विरोध नही । इस पर वहां मौजूद महिलाओं ने धरना खत्म करने के लिए मना किया । इस धरने को जारी रखने के लिए इस कि जिम्मेदारी स्वयं ली । इस पर सुलेमान ने कहा यही तो लोकतंत्र आप लोग करें लेकिन हमारी समिति कार्यक्रम सयोजक नही रहेगी और हम आप को पूरा सहयोग करें गए ।