ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
नागरिकता संशोधन विधायेक लोकसभा व राज्यसभा में पारित होने पर कई संगठनों ने किया विरोध
December 12, 2019 • Faisal Hayat • Social


कानपुर । -भारत सरकार ने बहुमत के आधार पर जिस तरह नागरिकता संशोधन विधेयक लोकसभा व राज्यसभा में पारित कराया है,उसको लेकर जहां पूरे देश में विधेयक का कड़ा विरोध हो रहा है,उसी कड़ी में कानपुर के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न संगठनों द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक का कड़ा विरोध किया गया। विरोध प्रदर्शन कर संगठनों ने सरकार से मांग की इस विधेयक को तुरंत वापस लिया जाए! 
जौहर एसोसिएशन ने सविंधान का उल्लंघन करने पर गृह मंत्री अमित शाह के विरूद्ध दी तहरीर
कानपुर आज एमएमए जौहर फैन्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हयात ज़फर हाशमी व संगठन मंत्री उपेन्द्र यादव की अगुवाई में भारतीय सविंधान की धारा 14 व 15 का उल्लंघन करते हुए धर्म के आधार पर देश को बाटने के उद्देश्य से बनाए गए नागरिकता संशोधन विधेयक के माध्यम से भारतीयों के मौलिक अधिकारों के हनन के सम्बन्ध में प्रभारी निरीक्षक कर्नलगंज को प्रार्थना पत्र देकर कार्यवाही की मांग की। 
राष्ट्रीय अध्यक्ष हयात ज़फर हाशमी की ओर से आज दिनाँक 12 दिसंबर 2019 को उक्त प्रार्थना पत्र के माध्यम से भारतीय सविंधान की रचना करने वालों ने प्रत्येक भारतीय नागरिक को बराबर का अधिकार दिया और धर्म निरपेक्षता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूत करने के लिए यहां हर भारतीय को यहां धर्म, जाति, भाषा, प्रांत, संस्कृति, शिक्षा, चिकित्सा के नाम पर बांटने को मना किया गया है।
परन्तु अफसोस का विषय है कि वर्तमान समय में भारतीय सविंधान की धज्जियां उड़ाते हुए संसद भवन में भारत सरकार के गृह मंत्री श्री अमित शाह द्वारा धर्म के आधार पर भारत मे रहने वाली देश की दूसरी बड़ी आबादी (मुस्लिम समुदाय) को नागरिकता संशोधन विधेयक के अन्तर्गत बाटने का प्रयास किया जा रहा है।
जो भारतीय सविंधान द्वारा दिये गये हैं हमारे मौलिक अधिकारों का हनन है और भारतीय सविंधान की हत्या है। श्रीमान जी से आग्रह है कि उक्त प्रकरण की जांच कराकर देश को तोड़ने एवं विभाजन की स्थिति पैदा करने सविंधान की धारा 14 व 15 का उल्लंघन करने धर्म विशेष से घृणा रखने आदि के विरोध भारत के गृह मंत्री श्री अमित शाह पर मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कार्यवाही करने की मांग प्रार्थना पत्र देने वालों में हयात ज़फर हाशमी, जावेद मोहम्मद खान, हाफिज़ मोहम्मद फैसल जाफरी, मोहम्मद शारिक मंत्री, रईस अन्सारी राजू, अदनान एडवोकेट, मोहम्मद ईशान, मोहम्मद इलियास गोपी, हामिद खान, शहनवाज अन्सारी, सैफी अन्सारी आदि थे। बाबू पुरवा,सुजात गज, नई बस्ती, आदि क्षेत्रों में शांति पूर्वक विरोध प्रदर्शन किया गया। ईदगाह से बाकरगंज चौराहे तक हिंदू मुस्लिम एकता का परिचय देते हुए समाज वादी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष युव जनसभा के प्रभारी द्वारा नागरिक संशोधन बिल के विरोध में शांति पूर्वक मार्च निकाला गया! विरोध प्रदर्शन में कैंट प्रभारी सपा डाटा इमरान समीर खान दिलशाद खान फैसल अलीशान यादव श्रेष्ठ गुप्ता राजू मस्कट निसेल यादव आदि लोग रहे।