ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
नगर के सघन आबादी क्षेत्रों में चला संदिग्ध कोरोना मरीजों की जांच का दौर
April 21, 2020 • Faisal Hayat • Social

 

कानपुर- जिला प्रशासन की लाख कोशिशों के बाद भी नगर में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या से चिंतित जिला प्रशासन ने रेड जोन क्षेत्रों की निवासी जनता की स्क्रीनिंग शुरू कर दी है

। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला अधिकारी ब्रह्मदेव राम तिवारी के आदेश पर स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने नगर की सघन आबादी क्षेत्रों कर्नलगंज तिकोनिया पार्क के पास पार्षद भोलू के नेतृत्व में एवं फ़हिमा बाद कॉलोनी में पार्षद शिब्बू अंसारी एव मो.आमिर के नेतृत्व में कैंप लगवा कर कोविड-19 की जांच करवाई गई इसी के साथ साथ कई क्षेत्रों में बेकनगंज, चमनगंज,इफ्तिखारबाद,कुली बाजार, बांसमंडी, गोरा कब्रिस्तान,दलेल पुरवा,हीरामन का पुरवा में कोरोना संदिग्ध की जांच की गई।

 विदित हो कि नगर में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है गत दो दिनों में नगर के कोरोना मरीजों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है। अभी तक नगर में 75 कोरोना मरीज पाए गए हैं जिसमें 6 मरीज सही होकर अपने घर जा चुके हैं तो 2 मरीजों की मृत्यु हो चुकी है अभी भी 67 कोरोना मरीजों का इलाज नगर के विभिन्न अस्पतालों में किया जा रहा है । रावतपुर में कोरोना मरीज मिलने से नगर के कोरोना हॉटस्पॉट की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है पहले कोरोना हॉटस्पॉट की संख्या 13 हुआ करती थी जो अब बढ़ाकर 17 कर दी गई हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अशोक शुक्ला  ने बताया रावतपुर से एक कोरोना मरीज मिला था(हालांकि उसकी मृत्यु हो गई है मृत्यु के पश्चात)उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई जिस कारण रावतपुर को भी कोरोना हॉटस्पॉट में शामिल कर लिया गया है मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने यह भी बताया उनकी टीम सभी हॉटस्पॉट पर जाकर सभी लोगों की जांच कर रही है उन्होंने कहा  जांच के लिए 13 टीमें बनाई गई है  हर टीम में 10 स्वास्थ्य कर्मी हैं जो रेड जोन के निवासियों के नजले जुखाम बुखार आदि की जांच कर रहे हैं अगर उसमें कोई संदिग्ध होता है तो उसकी पूरी जांच की जाती है, और तब तक उस मरीज को 14 दिनों के लिए क्वॉरेंटाइन करा दिया जाता है कल भी विभाग ने 55 लोगों के सैंपल लिए थे जिसमें एक मरीज कोरोना पॉजिटिव पाया गया था बाकी के सभी सैंपल नेगेटिव थे। इसी तरह आज भी कोरोना संदिग्धों की जांच की जा रही है जिससे कोरोना के मरीजों की पहचान कर उनका इलाज किया जा सके।