ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
पीड़ित युवती ने रायपुरवा पुलिस पर अभद्रता एव जबरन समझौते का लगाया आरोप
February 19, 2020 • Faisal Hayat • Crime

ध्रुव ओमर

कानपुर । शहर के रायपुरवा थाना क्षेत्र में छेड़छाड़ की शिकायत करने के लिए पहुंची युवती से पुलिसकर्मी ने ही अभद्रता कर दी ।  साथ ही कार्यवाही करने के बजाय पुलिस ने युवती पर ही तंज कसना शुरू कर दिया । केंद्र की मोदी सरकार लगातार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा लगा रही है । औए सुरक्षा के इंतेज़ाम कर रही हैं । वहीं राज्य में बैठी योगी सरकार के पुलिस कर्मी बेटियों के पढ़ने पर पुलिस वाले ही तंज कस रहे है बल्कि उन की सुरक्षा के बजाय अभद्रता कर रहे हैं । कानपुर की पीड़िता जब शिकायत करने पहुंची तो पुलिस कर्मियों ने कहा कि तुम्हें इतना एडवांस किसने बना दिया । इसके बाद जबरन समझौता लिखवा लिया ।
पुलिस की कार्यवाही से नाराज युवती ने मंगलवार को थाने में समझौता लिखवाने का वीडियो अपलोड कर दिया था जिसके बाद पुलिस प्रशासन कार्रवाई की बात कर रहा है ।रायपुरवा निवासी एक युवती महिलाओं से संबंधित एक पोर्टल पर ब्लॉग लिखती है । युवती का कहना है कि मकान मालिक से उसका विवाद चल रहा है । इसी विवाद में मकान मालिक के बेटे ने उसके साथ मारपीट कर छेड़छाड़ की
जब वह शिकायत को लेकर रायपुरवा थाने पहुंची तो पुलिस ने उसी को कटघरे में खड़ा कर दिया । पीड़ित का आरोप है कि एक पुलिस कर्मी ने कहा कि ज्यादा पढ़ लिख गई हो, इतना एडवांस कौन बना दिया है..तुम्हारे पापा ने युवती ने इस बात की शिकायत ट्विटर पर यूपी पुलिस को टैग करते हुए की है ।
थाने में नहीं थी महिला सिपाही

युवती ने ट्विटर पर यह भी आरोप लगाया है कि प्रार्थना पत्र देने के बाद पुलिसकर्मियों ने उसे कई घंटे तक थाने में बिठाए रखा. इस दौरान एक भी महिला सिपाही वहां नहीं थी. पुरुष सिपाही ही उससे पूछताछ कर रहे थे ।


 इस मामले में रायपुरवा इंस्पेक्टर का कहना है कि मकान मालिक व किराएदार के बीच विवाद का मामला सामने आया है । छेड़खानी का आरोप लगा है ।


इस मामले में आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने कहा है कि उन्हें इस बात की जानकारी है । पुलिस कर्मियों द्वारा अभद्रता के आरोपों की जांच चल रही है । दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी ।

महिलाओं और लड़कियों से पुलिस का ये दुर्व्ययहार पहला नही है । ऐसे तमाम उदहारण हैं जिस में पुलिस की फजीहत हुई है । शहर के कप्तान और आला अधिकारी समय समय पर थाने चौकी का निरीक्षण करते हैं । तो महिलाओं की समस्यायों पर त्रीवता से कार्य करने और उन को थाने में सम्मान से बैठालने की हिदायत देते हैं । परंतु कुछ वर्दी धारी उन की हिदायतों को न मान कर मुँह चिढ़ाते नज़र आते हैं । ऐसा ही एक मामला नजीराबाद थाने में भी हुआ था । जिस का वीडियो वायरल होने के बाद जहां प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर के पुलिस पर सवाल उठाए थे । जिस को बाद में आला अधकारी ने पुलिस कर्मी को निलंबित कर दिया था । अभी हाल में ही चमनगंज थाने में भी एक वांक्षित अपराधी को पकड़ने के लिए उस के सात साल के छोटे भाई को पकड़ लाई थी । जिस कारण उस की बड़ी बहन रात भर भाई को अपनी गोद मे बैठाए रही । पीड़िता ने ये भी आरोप लगाया था कि उस समय भी थाने में कोई महिला सिपाही नही थी उस का भी वीडियो वायरल होने के बाद नेशनल चैनल की सुर्खियां बना