ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
प्रसपा ने जन विरोधी नीतियों के खिलाफ दिया ज्ञापन, उठाई आवाज
December 13, 2019 • Faisal Hayat • Politics

 

कानपुर । प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया कानपुर नगर एवं कानपुर नगर ग्रामीण ने संयुक्त रूप से पूर्व कैबिनेट मंत्री शिव कुमार बेरिया, जिला अध्यक्ष विनोद प्रजापति, नगर अध्यक्ष आशीष चौबे के नेतृत्व में राज्यपाल उत्तर प्रदेश को संबोधित 18 सूत्रीय ज्ञापन द्वारा जिलाधिकारी प्रेषित किया।भारी तादाद में कार्यकर्ताओं ने पूर्व कैबिनेट मंत्री शिव कुमार बेरिया, जिला अध्यक्ष विनोद प्रजापति, नगर अध्यक्ष आशीष चौबे के साथ लगभग एक सैकड़ा पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी कानपुर नगर को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि वर्तमान भाजपा  सरकार द्वारा नागरिक संशोधन बिल के पारित होने के बाद हिंदू और मुसलमानों में भयानक कड़वाहट आने के संकेत मिल रहे हैं। समानता के सिद्धांत को मानते हुए जो भारतीय संविधान में निहित है उसे बरकरार रखना अति आवश्यक हो गया हैं। आए दिन बलात्कार छेड़खानी की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि,वर्तमान सरकार की नाकामयाबी सिद्ध करती है। यह ला - एंड-आर्डर कंट्रोल करने में फेल हो गई है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा खोखला साबित हो गया है। गरीबों के हितों की योजनाओं में लूट मची हुई है।सरकारी विभागों में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कानून बनाने की आवश्यकता है। पुलिस विभाग के लचर व्यवस्था और रवैया के चलते अपराधियों का मनोबल बढ़ा है। सरकार के नुमाइंदे हद से ज्यादा पुलिस पर दबाव डालकर हस्तक्षेप करते हैं ।इस पर रोक लगाना अति आवश्यक है। इसके साथ ही क्लीन सिटी ग्रीन सिटी का नारा बुलंद किया गया था। परंतु शहर के सारे डस्टबिन गायब है। 500 टन कूड़ा सड़कों पर फेका जाता है । कानपुर में 2.6 प्रतिशत ही हरियाली क्षेत्र बचा है। गड्ढा युक्त सड़कें और वायु प्रदूषण के कारण स्थिति जानलेवा साबित हो रही हैं। डेंगू जैसी बीमारी से सैकड़ों मौतें हो चुकी हैं परंतु, स्वास्थ्य विभाग का कोई पुरसा हाल नहीं है । ना कोई हल निकाल पाए हैं। ग्रामीण अंचल में किसान को समय से बीज, खाद व सिंचाई हेतु पानी नहीं मिल पा रहा है । पनकी से कुडनी तक सभी नहरों में सिल्ट जमा है । आवारा कुत्तों अभी तक सैकड़ों बच्चों बड़ और बुजुर्गों की जान ले चुके है । अभी भी नगर निगम का डॉग कैचिंग विभाग और उनके कैचर व्हीकल ठूंठ साबित हो रहे हैं । सूअर खुलेआम पूरे शहर में भ्रमण करते हैं । 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के दिन से पॉलिथीन बैन के बाद भी खुलेआम पॉलिथीन के थैलों में सामान खरीदा बेचा जा रहा है । आवारा जानवर गांव में फसलें बर्बाद कर रहे हैं और सड़कों पर भीषण एक्सीडेंट का कारण बन रहे हैं । इस पर सरकार कोई कार्य योजना नहीं ला पा रही है  । शौचालय बनाने में 2 हजार से 5 हजार तक  की वसूली की जा रही है। ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रुप से पूर्व कैबिनेट मंत्री शिव कुमार बेरिया, गोविंद त्रिपाठी स्वामी  जिला अध्यक्ष विनोद कुमार प्रजापति, नगर अध्यक्ष आशीष चौबे,सचिन वोहरा, अनूप त्रिपाठी, आनंद शुक्ला, दीपू पांडे ऋषि दुबे, शैलेंद्र मिश्रा, राकेश रावत, डॉ० शालिनी यादव, नरेश चौहान, मोना गौतम आदि लोग मौजूद रहे।