ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने प्रदर्शन किया
December 19, 2019 • Faisal Hayat • Politics


कानपुर । वामपंथी जनवादी दल तथा सामाजिक संगठनों के राष्ट्रीय आवाहन पर नागरिक संशोधन अधिकार एवं राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध में धरना देकर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन दिया! रामाश्रय पाक बड़ा चौराहे पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी भारत की कमेटी पार्टी इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक डी0वाई0एल0आई छात्र-छात्राओं महिला और युवा संगठनों के अलावा नागरिक अधिकार संगठनों के कार्यकर्ताओं ने धरना देकर केंद्र सरकार की तानाशाही के चलते नागरिकता संशोधन अधिनियम एवं राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर कानूनों को लागू करने के कार्य की कड़ा विरोध किया! जिला सचिव राम प्रसाद कनौजिया ने कहा कि नागरिक संशोधन विधेयक तत्काल वापस किया जाए अपने भारतीय जनता पार्टी के द्वारा अपने बहुमत के बल पर और देश के संविधान और संवैधानिक नैतिकता को धता बताकर पास करवाया है इस अधिनियम के द्वारा भारतीय संविधान का उल्लंघन हुआ है डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखित संविधान में जो आजादी के आंदोलन के मूल्यों ने देश को एक सर्कुलर राज्य बनाया था भारतीय जनता पार्टी उक्त राज्य को पलटने की चेष्टा कर रही है! दुनिया में धर्म के आधार पर बने हुए देशों को छोड़कर किसी भी देश में धर्म के आधार पर नागरिकता नहीं दी जाती है भारत सरकार ने राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के बनाने का भी ऐलान किया है और कहा गया कि इस पूरे भारत में लागू किया जाएगा इस ऐलान को भी तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाए भारत सरकार ने यह घोषणा देश में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण करने के उद्देश्य ही की है! छात्रों द्वारा नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने पर पीलिया विश्वविद्यालय तथा उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में छात्रों पर पुलिस द्वारा किए गए बर्बर के विरुद्ध कानून कार्यवाही की जाए और उन्हें कानून के अंतर्गत बंदिनी किया जाए!

धरने में प्रमुख रूप से रामप्रकाश कनौजिया अजीत कुमार सिंह नीरज यादव अरविंद कुमार मोहम्मद वसीम राम प्रकाश राय भगवान मिश्रा विजय कुमार राणा प्रताप सिंह, निलांबुज शेषनाथ मिश्रा अख्तर कानपुरी महबूब आलम शकील अहमद फैज बैग, शारीक , हस्सन , राज  आदि लोग मौजूद रहे ।