ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
समाजवादियों ने विरोध में काले गुब्बारे छोड़े 
January 22, 2020 • Faisal Hayat • Politics



कानपुर । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कानपुर दौरे का  सपा से जुड़े व्यापारियों ने काले गुब्बारे छोड़े कर विरोध किया।सपा व्यापार सभा के निवर्तमान प्रदेश उपाध्यक्ष व्यापार सभा व उत्तर प्रदेश प्रान्तीय व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता को आज सुबह ही उनके कैंट निवास पे नज़रबंद कर दिया गया।इसके विरोध में सपा व्यापार सभा व उत्तर प्रदेश प्रान्तीय व्यापार मण्डल से जुड़े व्यापारियों ने आज अभिमन्यु गुप्ता के निवास पे ही एकत्रित होकर गढ्ढेदार सड़कों,नमामि गंगे योजना में भ्रष्टाचार व नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में नारेबाजी करते हुए नज़रबंद व्यापारी नेता के निवास से ही मुख्यमंत्री दौरे का विरोध करते हुए काले गुब्बारे पुलिस की मौजूदगी में छोड़े।सभी ने पुलिस से नजरबंदी का कारण पूछा जिसके बाद पुलिस कर्मियों से सबकी नोकझोंक भी हुई।सबको नजरबंदी से भयंकर आक्रोश था।इस मौके पर अभिमन्यु गुप्ता ने बताया की वे लगातार गढ्ढेदार सड़क,नमामि गंगे परियोजना में हुए भ्रष्टाचार,बिजली मूल्यवृद्धि के विरोध में सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं।इन मुद्दों पर वह मुख्यमंत्री से जवाब चाहते हैं।पहला मुद्दा नमामि गंगे प्रोजेक्ट के नाम पर जनता का करोड़ों रुपये टैक्स का बर्बाद किया गया और पहली ही बारिश में नाले गंगा में गिरने लगे।जनता के टैक्स के पैसे की ये बर्बादी है।योगी जी ने 14 दिसम्बर 2019 को वादा किया था को सीसामऊ नाला अब गंगा में कभी नहीं गिरेगा।वो दावा झूठा साबित हुआ।व्यापारियों की मांग थी की योगी जी जनता से माफी मांगें और योजना में खर्च हुए रुपये कोष में वापस जमा किये जाएं।दूसरा विरोध का मुद्दा है की 30 नवम्बर 2019 तक पूरे युपी को गढ्ढामुक्त बनाने का वादा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था पर पूरे यूपी, विशेषकर औद्योगिक राजधानी कानपुर में उल्टा पहले की तुलना में गढ्ढे और बढ़ गए।जनता के टैक्स का पैसा गढ्ढों में बर्बाद हो रहा है।तीसरा मुद्दा है बिजली मूल्यवृद्धि व सेक्युरिटी मनी का।चौथा विरोध इस बात का की मुख्य मुद्दों को छोड़कर भटकाने के लिए सीएए एनपीआर जैसे मुद्दे जनता पर थोपे जा रहे हैं।अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री को आम व्यापारी,किसान,नौजवान से मिलने में और उनकी बातें सुनने में डर लगता है।वो क्यों नहीं मिलते और ज़मीनी समस्याओं को सुनते हैं।संविधान के तहत ये सबका अधिकार है की मुख्यमंत्री से मिलकर जनता अपनी बात कह सके।और अगर मुख्यमंत्री नहीं मिल रहे तो सब अपनी बात कह सकें।अभिमन्यु गुप्ता ने कहा कि लगातार इन सभी मुद्दों पर वे संघर्ष करते रहेंगे।अभिमन्यु गुप्ता के साथ वैश्य महासंगठन के प्रदेश अध्यक्ष संजय बिस्वारी,मो शाहरुख खलीफा,शब्बीर अंसारी,गौरव बकसारिया,मनोज चौरसिया,हसन अब्बास मुख्य रूप से अपने साथियों के साथ मौजूद थे।