ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
उलेमा ए अहले सुन्नत ने एसएसपी  से की मुलाकात
December 28, 2019 • Faisal Hayat • Social


कानपुर । शहर के सम्मानित बहुचर्चित समाजसेवी हजार जबर हाशमी व अन्य बेकसूर लोगों को यतीमखाना बाबू पुरवा बवाल में नामजद किए गए लोगों के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को उलेमा ए अहले सुन्नत के साथ प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन सौंपा। हजरत मौलाना सैयद अकमल अशरफी कहा कि अमन शांति भाईचारे के प्रचारक राष्ट्रव्यापी सद्भावना यात्री शहर के बहुचर्चित समाजसेवी सम्मानित हस्तियों में से एक है या जफर हाशमी के विरुद्ध थाना कर्नलगंज के सब इंस्पेक्टर परवेज अली की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है जोकि गलत बात बेबुनियाद है जफर हाशमी सदैव शहर अमन शांति हिंदू मुस्लिम एकता मानवता के लिए कार्य करते चलते आ रहे हैं के द्वारा जब भी कोई कार्यक्रम किया गया तो वह संवैधानिक तरीके से आयोजित हुआ शांति पूर्वक उसका समापन भी हुआ सदैव प्रशासन को सहयोग करने वाले हयात जफर हाशमी पर फर्जी मुकदमा लगा कर न केवल उनके मनोबल को तोड़ने का कार्य है अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के लोग भी आहत हुए हैं हयात जफर हाशमी के संदर्भ में खुफिया एजेंसी से जांच करा ले कि  जफर हाशमी द्वारा कभी इस प्रकार की कोई घटना को अंजाम दिया गया! फेसबुक पर लाइव आकर आरोप भी है हयात जफर हाशमी पर लगाया जा रहा है जबकि लाइफ आने की विभिन्न वीडियो को गंभीरतापूर्वक देखने के बाद उसे किसी प्रकार का भड़काऊ बयान या शब्दों का इस्तेमाल नहीं किया गया केवल अपनी बात को रखा गया है। हयात जफर हाशमी व अन्य बेगुनाहों पर लगे फर्जी मुकदमों को वापस लिया जाए। बाबू पुरवा यतीमखाना बोलो शामिल नहीं या जिनका किसी प्रकार से कोई हस्तक्षेप नहीं रहा उनका नाम मुकदमों से हटाया!
ज्ञापन के दौरान मौलाना सैयद अकमल अशरफी, हाफिज व कारी सय्यद मोहम्मद फैसल जाफरी,आशीष मिश्रा एडवोकेट, आदिल रजा अजहरी, सुरेश गुप्ता, उपेंद्र सिंह आदि लोग मौजूद रहे।