ALL Social Crime State Politics Entertainment Press Conference Education Devlopment
यात्रा नहीं ये माँ गंगा के नाम पे धोखा है
January 30, 2020 • Faisal Hayat • Politics



कानपुर । कानपुर में गंगायात्रा को दिखावटी इवेंट यात्रा बताते हुए समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं ने व्यापार सभा के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष अभिमन्यु गुप्ता के नेतृत्व में जाजमऊ में गंगा में खड़े होकर हाथों में गंगा का मैला पानी लेकर प्रदर्शन करते हुए माँग रखी कि पहले गंगा जी की सफाई हो और भ्रष्टाचार बंद हो उसके बाद ही कोई गंगा यात्रा निकाली जाए और साथ ही सबने योगी सरकार की सदबुध्दि के लिए प्रार्थना की।
गंगा यात्रा को राजनैतिक इवेंट स्टंट बताते हुए अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की ऐसे वक्त में जनता के टैक्स के पैसे को बर्बाद किया जा रहा है जबकि महंगाई,मंदी, बेरोज़गारी,व्यापारिक मंदी से व्यापारी, किसान,युवा सब त्राहि त्राहि कर रहा है।ऐसे वक्त में जनता के टैक्स के पैसे से ये यात्रा निकाली जा रही है जब न ही गंगा की सफाई हुई है और साथ ही नमामि गंगे परियोजना में बड़ा भ्रष्टाचार का मामला कानपुर के  बिठूर विधायक द्वारा ही उठाया गया है।भाजपा सरकार जनता को भटकाना जानती है।इवेंट रूपी यात्रा के चक्कर में कई स्कूलों को बंद किया गया और कई जगह परीक्षा स्थगित की गई हैं। गंगा जी की सफाई हुई नहीं,गंदगी अभी भी गंगा में जा रही है,नमामि गंगे परियोजना में भ्रष्टाचार की शिकायत आ रही है और ऐसे वक्त में बिना सफाई, बिना भ्रष्टाचार रोके भाजपा गंगा यात्रा निकाल कर लोकतंत्र का मज़ाक उड़ा रही है। प्रधानमंत्री ने नमामि गंगे के नाम पर गंगा सफाई के लिए खजाना खोल  दिया पर गंगा साफ नहीं हुईं और योजना में कानपुर में ही भ्रष्टाचार की शिकायत सामने आई।गंगा सफाई में कर्मचारी कुछ दिखाए जा रहे हैं और मौके पर कुछ पाए जा रहे हैं।नदी सफाई की सुनियोजित व्यवस्था बनी नहीं।नालों का गिरना बंद नहीं हुआ। जहां गंगा यात्रा आ रही है वहां ब्रह्मावर्त घाट के पास नाले को कल डाइवर्ट करके 300 मीटर दूरी से गंगा में डाला जा रहा है।घाटों पर गंदगी है।नानाराव घाट पर गोबर के पहाड़ बने हुए हैं। सरकार को अखिलेश सरकार से
 सीख लेते हुए गोमती रिवर फ्रंट की तरह योजना चलानी चाहिए।हम समाजवादी हर योजना में सहयोग करेंगे जो साफ नीयत से जनता की सेवा के लिए चलाई जाएगी।
 अभिमन्यु गुप्ता ने कहा की दिखावटी फेशियल वाली सफाई चुनिंदा वीआईपी केंद्रों पर ही हुई है। यात्रा के पहले जो गांव नदी कटान में उजड़ गए उनको मुआवजा देना चाहिए। गांव के किनारे तटबंध होने चाहिए। भाजपा सरकार ने गंगा किनारे रेत पर ककड़ी, खीरा, तरबूज आदि उगाने वालों के लिए कुछ नहीं किया। नाव चलाकर आजीविका कमाने वालों के लिए भी कोई योजना नहीं।और तो और कानपुर में गंगा सफाई के नाम पर कानपुर की पहचान टैंनरी उद्योग बंद कर दिया गया पर नतीजा कुछ नहीं मिला और गंगा जी आज भी उस ही हालत में हैं क्योंकि सफाई के नाम पर भ्रष्टाचार हुआ।गरीब,किसान,केवट,मल्लाह,निषाद समाज के लोग परेशान हैं। मुख्यमंत्री कानपुर में गंगा यात्रा का समापन कर लोकतंत्र का उपहास उड़ा रहे हैं और अपनी सरकार का घमण्ड दिखाने का ही काम कर रहे हैं क्योंकि न गंगा साफ हैं और न सरकार ने कानपुर में भ्रष्टाचार के मामले पे जवाब दिया है।ऐसे वक्त में मुख्यमंत्री के गंगा यात्रा को लोकतंत्र का उपहास मानते हुए हमसब लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करेंगें।अभिमन्यु गुप्ता, मो शाहरुख खलीफा,गौरव बकसारिया, संजय बिस्वारी,जितेंद जायसवाल,द्विवेदी,मनोज चौरसिया, शेषणाथ यादव,करन साहनी, अमन बक्सरिया, अमित तिवारी, शुभम तिवारी, हिमांशु त्रिवर्दी,मो नादिर,साजिद लारी,मुशीर खान,फ़ैज़ खान,मोनू शाह आदि थे।